Mausam Shayari in Hindi Mausam Shayari Rekhta Mausam Shayari in Urdu

Namaskar Dosto Hum Aapke Liye Mausam Shayari in Hindi laker Aaye hai aur AAP is Tarah ki हिंदी में मौसमी शायरी Apne Friends aur family ke sath Share Kar sakte hai,

Mausam Shayari in Hindi, mausam shayari rekhta, mausam shayari in urdu, mausam shayari 2 line english, mausam shayari gulzar, mausam shayari image, mausam shayari in hindi font, suhana mausam shayari, sard mausam shayari, 2 line mausam shayari in urdu

Mausam Shayari in Hindi

तपिश और बढ़ गई इन चंद बूंदों के बाद,
काले स्याह बादल ने भी बस यूँ ही बहलाया मुझे।

mausam shayari rekhta

सतरंगी अरमानों वाले,
सपने दिल में पलते हैं,
आशा और निराशा की,
धुन में रोज मचलते हैं,
बरस-बरस के सावन सोंचे,
प्यास मिटाई दुनिया की,
वो क्या जाने दीवाने तो
सावन में ही जलते है।

777 Hindi Lyrics (हिंदी गाने) Read Best Lyrics In Hindi777 Hindi Captions (हिंदी कैप्शन) Read Best Captions In Hindi
Famous Authors Quotes 777 About Friendship, Life, Love777 Hindi Poetry (हिंदी कविता) Read Best Poetry In Hindi
777 Hindi Poem (हिंदी कविता) Read Best Poem In Hindi777 Hindi Paheliyan (हिंदी पहेलियाँ) Read Best Paheliyan In Hindi

mausam shayari in urdu

कुछ तो हवा भी सर्द थी
कुछ था तेरा ख़याल भी,
दिल को ख़ुशी के साथ साथ
होता रहा मलाल भी।

mausam shayari 2 line english

बादलों ने बहुत बारिश बरसाई,
तेरी याद आई पर तू ना आई,
सर्द रातों में उठ -उठ कर,
हमने तुझे आवाज़ लगाई,
तेरी याद आई पर तू ना आई,
भीगी -भीगी हवाओ में,
तेरी ख़ुशबू है समाई,
तेरी याद आई पर तू ना आई,
बीत गया बारिश का मौसम
बस रह गयी तनहाई,
तेरी याद आई पर तू ना आई।

mausam shayari gulzar

कुछ तो तेरे मौसम ही मुझे रास कम आए,
और कुछ मेरी मिट्टी में बग़ावत भी बहुत थी।

mausam shayari image

जिसके आने से मेरे जख्म भरा करते थे,
अब वो मौसम मेरे जख्मों को हरा करता है।

mausam shayari in hindi font

मौसम की मिसाल दूँ या नाम लूँ तुम्हारा,
कोई पूछ बैठा है बदलना किसको कहते हैं।

suhana mausam shayari

तब्दीली जब भी आती है मौसम की अदाओं में,
किसी का यूँ बदल जाना बहुत तकलीफ देना है।

sard mausam shayari

कुछ तो तेरे मौसम ही मुझे रास कम आए,
और कुछ मेरी मिट्टी में बग़ावत भी बहुत थी

2 line mausam shayari in urdu

कुछ तो हवा भी सर्द थी कुछ था तेरा ख़याल भी,
दिल को ख़ुशी के साथ साथ होता रहा मलाल भी।

Spread the love
Get It OnImportant Link
Join Our Facebook PageJoin Our Facebook Group
Follow On TwitterJoin Our Email Service
Follow On Google NewsFollow On Instagram
Follow On PinterestFollow On Flickr
Join Our Telegram ChannelJoin Our YouTube Channel
Follow On LinkedinFollow On Reddit

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *